Saikshanik Archives - गद्य गुँजन

जूठा-श्री विमल कुमार “विनोद”

ओपनिंग दृश्य-विवाह स्थल का दृश्य।(ठाकुर कामेश्वर सिंह के यहाँ उनकी बेटी की शादी है,बाराती को भोजन कराया जा रहा है।उसी समय बिसेसरा नामक व्यक्ति पंगत में भोज खाने बैठ जाता… जूठा-श्री विमल कुमार “विनोद”Read more

Spread the love

बाल-अधिकार- श्री विमल कुमार”विनोद”

ओपनिंग दृश्य-(एक शिक्षक जो कि गाँव के विद्यालय में कार्यरत है,जो कि ग्रामीण को अपने बच्चों को पढ़ने के लिये जाने को कहते हैं)शिक्षक-बहन जी,आपलोग अपने बच्चे-बच्चियों को विद्यालय पढ़ने… बाल-अधिकार- श्री विमल कुमार”विनोद”Read more

Spread the love

गरीबी की कब्र पर पनपी हँसी-श्री विमल कुमार” विनोद”

एक बड़े शहर के चंराहे पर सुबह के 10 बजे एक चमचमाती हुई कार ट्रैफिक पर आकर लगती है।उसी समय एक लड़की जो कि फटी हुई सलवार तथा पायजामा पहनी… गरीबी की कब्र पर पनपी हँसी-श्री विमल कुमार” विनोद”Read more

Spread the love

मैजिक का भ्रम -मीरा सिंह

अंशु कक्षा पांच का छात्र था। पढ़ाई में वह बहुत तेज था। परंतु इधर कुछ दिनों से वह खेल में ज्यादा रुचि लेने लगा था।इस बदलाव से उसके माता-पिता बहुत… मैजिक का भ्रम -मीरा सिंहRead more

Spread the love

अन्न का महत्व – कुमकुम कुमारी

रिशु जो दस साल का एक बालक था, स्वभाव से काफी शरारती था। रिशु को खाने-पीने में काफी नखरा था। कभी भी वो खाना अच्छी तरह से नहीं खाता था।… अन्न का महत्व – कुमकुम कुमारीRead more

Spread the love

स्वगुण-कुमारी निरुपमा

स्वगुण       एक सप्ताह पहले की बात है, नाव से पार करते समय एक बुजुर्ग महिला और उसके साथ उसकी दो युवा पौत्री भी थी। वह सभी उस… स्वगुण-कुमारी निरुपमाRead more

Spread the love

भाषा एक प्रतिबिंब-कुमकुम कुमारी “काव्याकृति”

भाषा एक प्रतिबिंब           वक्ता के विकास और चरित्र का वास्तविक प्रतिबिंब “भाषा” है। किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को परिभाषित करने में उसके द्वारा प्रयुक्त भाषा… भाषा एक प्रतिबिंब-कुमकुम कुमारी “काव्याकृति”Read more

Spread the love

हृदय परिवर्तन-सुरेश कुमार गौरव

हृदय परिवर्तन            कुंदन का परीक्षाफल आज निकलने वाला है इसीलिए वह सुबह से ही दैनिक कार्यों से निवृत्त होने लगा। स्कूल जाने के समय तैयार… हृदय परिवर्तन-सुरेश कुमार गौरवRead more

Spread the love

अनोखा पक्षी नीलकंठ-सुरेश कुमार गौरव

अनोखा पक्षी नीलकंठ           हम सभी पक्षियों के रंग-रुप और उसकी विशेषताओं के बारे में अक्सर पढ़ते व जानते हैं। लेकिन आज दक्षिण एशियाई पक्षी नीलकंठ… अनोखा पक्षी नीलकंठ-सुरेश कुमार गौरवRead more

Spread the love

झंडा गीत के रचयिता-हर्ष नारायण दास

झंडा गीत के रचयिता           स्वतंत्रता प्रेमी, सच्चे देशभक्त तथा देशवासियों के प्रति सम्मान और इसकी सतत रक्षा करने की प्रेरणा देने वाले राष्ट्रप्रिय “झण्डा गीत”… झंडा गीत के रचयिता-हर्ष नारायण दासRead more

Spread the love