मधुमिता Archives - गद्य गुँजन

खूबसूरत अनुभूतियां-मधुमिता

खूबसूरत अनुभूतियां           समय के चक्र के साथ-साथ जीवन की यात्रा निरंतर चलती रहती है। मां की गोद में एक नवजात शिशु, माँ ही जिसका संसार,… खूबसूरत अनुभूतियां-मधुमिताRead more

Spread the love

राजयोग 2-मधुमिता

राजयोग 2          परमात्मा का सत्य परिचय। परमात्मा कौन है? कैसे हैं? उनके कर्तव्य क्या है? उनका स्वरूप क्या है? वो कहां रहते हैं? परमात्मा के स्वरूप… राजयोग 2-मधुमिताRead more

Spread the love

भाग्य निर्माता-मधुमिता

भाग्य  निर्माता           हर आत्मा अपने कर्मों से अपने भाग्य का निर्माण करता है। अपने कर्मों का जिम्मेवार भी वो खुद होता है। हमारे माता-पिता या… भाग्य निर्माता-मधुमिताRead more

Spread the love

खुशियों का त्योहार दिवाली-मधुमिता

खुशियों का त्योहार दिवाली           दिवाली दीयों का त्यौहार, चारों ओर रोशनी ही रोशनी, खुशियाँ ही खुशियाँ, नए कपड़े, पटाखे, मिठाईयाँ ले मौज-मस्ती करते बच्चे, रंगीन… खुशियों का त्योहार दिवाली-मधुमिताRead more

Spread the love

हमारी खुशी हमारे हाथों में-मधुमिता

हमारी खुशी हमारे हाथों में है          हमारे जीवन में आने वाली परिस्थितियाँ निरंतर एक परीक्षा के रूप में हमारे सामने आती हैं और इस परिस्थिति को… हमारी खुशी हमारे हाथों में-मधुमिताRead more

Spread the love

जीवन उत्सव है-मधुमिता

जीवन उत्सव है           जीवन सर्वशक्तिमान परमात्मा का दिया हुआ खूबसूरत वरदान है। यह विश्व एक रंगमंच है जिसपर हम आत्माएँँ अवतरित होकर इस विश्व नाटक… जीवन उत्सव है-मधुमिताRead more

Spread the love

सकारात्मकता एक शक्ति है-मधुमिता

सकारात्मकता एक शक्ति है           सकारात्मक विचार हमारे शरीर के अंदर एक ऐसी ऊर्जा का संचार करती है, जो हमें किसी भी परिस्थिति का सामना करने… सकारात्मकता एक शक्ति है-मधुमिताRead more

Spread the love

और मैं बन गई मम्मा-मधुमिता

और मैं बन गई मम्मा           गोधूलि बेला में मैं ध्यान करने जा रही थी कि तभी मोबाइल की घंटी बजी। बेटू ने कहा “मम्मा मेरा… और मैं बन गई मम्मा-मधुमिताRead more

Spread the love